Liver cirrhosis in hindi

Liver Cirrhosis In Hindi – लीवर को हानि पहुँचने से हो सकती है यह बीमारी

5/5 (1)

लीवर सिरोसिस (liver cirrhosis in hindi) एक ऐसी बीमारी है जो कई सालों से लीवर को नुकसान पहुँचने के कारण होती है | समय पर इलाज न कराने पर यह जानलेवा भी हो सकती है |

मिहीर वर्मा (45) को पिछले कुछ दिनों से छोटे से छोटा काम करने पर भी काफ़ी थकावट हो जाती थी | परन्तु उन्हें हमेशा लगता था कि यह बढ़ती उम्र का नतीजा है |

मिहीर कहतें हैं, “मुझे चिंता तब होने लगी जब मैंने एक दिन देखा की अचानक से मेरे दोनों पैरों में सूजन हो गई | कुछ समझ न आने पर मैं physician के पास जांच कराने गया | उन्होंने मेरे लक्षणों को ध्यान में रख कर मुझे सीताराम भरतिया की अनुभवी गैस्ट्रोएन्टेरोलॉजिस्ट, डॉ. निवेदिता पांडे, के पास जाने को कहाँ |”

Liver cirrhosis in hindi – रोग की पहचान

डॉ. निवेदिता ने उनके लक्षणों और मेडिकल हिस्ट्री को ध्यान से देखा | लक्षणों के आधार पर उन्होंने मिहीर को कुछ ब्लड टेस्ट्स कराने को कहाँ जिसमे से एक लीवर फंक्शन टेस्ट भी था |

टेस्ट्स के रिपोर्ट्स पढ़ने के पष्चात डॉ. निवेदिता ने कहाँ “रिपोर्ट्स से यह पता चलता है की शायद परेशानी आपके लीवर के कारण हो रही है | इस वजह से हम एक अल्ट्रासाउंड स्कैन भी कराना चाहेंगे ताकि हम आपके लीवर की अच्छे से जांच कर पाएँ |”

मिहीर के लीवर के अल्ट्रासाउंड से पता चला कि उनके लीवर में कई असाधारण गांठें उत्पन्न हो गई थी | इससे डॉ. निवेदिता का शक सही निकला | मिहीर को लीवर सिरोसिस (liver cirrhosis in hindi) था जिसकी वजह से उनका लीवर सही तरह से काम नहीं कर पा रहा था |

मिहीर ने घबरा कर पुछा – “लीवर सिरोसिस (cirrhosis meaning in hindi) क्या होता है ?”

Liver cirrhosis in hindi – क्या है लीवर सिरोसिस ?

जब किसी क्रोनिक बीमारी या कारण की वजह से लीवर को आघात पहुँचता है तब लीवर पर घाव के निशान (scarring of the liver) पड़ने लगते है | इसको लीवर सिरोसिस (liver cirrhosis in hindi) कहा जाता है |

डॉ. निवेदिता ने समझाया – “लीवर सिरोसिस की बीमारी में सख्त स्कार टिशू लीवर में मौजूद स्वस्थ टिशू की जगह ले लेता है | इसको लीवर में स्कार्रिन्ग भी कहा जाता है | होता यह है कि जब-जब लीवर को किसी भी तरीके का नुकसान पहुँचता है तब-तब वह खुदको दुरुस्त करने की कोशिश करता है | इस क्रिया में स्कार टिशूस बनने लगते हैं जो स्वस्थ लीवर टिशूस की जगह लेकर लीवर को सख्त बना देते हैं |”

“ध्यान देने वाली बात यह है कि यह अचानक से होने वाली बीमारी नहीं है | लीवर में सिरोसिस उत्पन्न होने में कई वर्ष लग जाते है | यह लम्बे समय से लीवर को हानि पहुँचने के कारण होता है | अगर इसका इलाज न किया जाए तो अंत में यह लीवर के विफल होने का भी कारण बन सकता है |”

“परन्तु लीवर सख्त हो जाने से शरीर को कैसे हानि पहुँचती है ? मिहीर ने जिज्ञासापूर्वक पुछा |

“जैसे – जैसे सिरोसिस बढ़ता जाता है वैसे – वैसे लीवर में और स्कार टिशूस बनने लगते है जिसका मतलब है लीवर में कम ही स्वस्थ टिशूस बचे रहते हैं | स्कार टिशूस लीवर में होने वाली रक्त की प्रवाह को रोक देते हैं जिससे लीवर के कार्य करने की क्षमता पर भारी प्रभाव पड़ता है | इससे वह पोषक तत्व, होर्मोनेस और कुदरती टॉक्सिन्स को संसाधित नहीं कर पाता” डॉ. निवेदिता ने कहाँ |

Liver cirrhosis ke lakshan

अगर आपको निम्नलिखित लक्षणों का अनुभव हो रहा है तो अपने लीवर की जांच ज़रूर कराएँ –

  • अक्सर थकावट महसूस होना
  • खाना खाने की इच्छा कम हो जाना
  • वज़न का अचानक से बढ़ या घट जाना
  • चोट खाने पर आसानी से रक्त निकल जाना
  • पैरों और पेट में सूजन आ जाना
  • खून की उल्टियाँ होना
  • शरीर में बेवजह खुजली होना
  • शरीर का और आँखों का पीला पड़ जाना
  • मल में रक्त का मिलना  
  • ज्वर होना
  • मस्तिष्क में टॉक्सिन्स के जमा होने की वजह से ध्यान देने में, चलने में और चीज़ें याद रखने में परेशानी आना

मिहीर ने इन सारे लक्षणों को ध्यान से सुना और तब उन्हें पता चला की उन्हें इनमे से कई लक्षणों का अनुभव हो चूका था |

“लीवर में किस प्रकार की हानि पहुँचने पर सिरोसिस उत्पन्न हो सकती है ?” मिहीर ने पुछा |

Liver cirrhosis in hindi – क्या है इसके कारण ?

डॉ. निवेदिता ने कहाँ – “लीवर को नुकसान कई कारणों और बिमारियों से पहुँच सकता है | परन्तु हमारे देश में लीवर सिरोसिस का प्रमुख कारण है मोटापा (obesity), ख़ास तौर पर जब पेट में फैट जमा हो जाए |”

सिरोसिस के अन्य कारण हैं –

  • डायबिटीज (मोटापे के साथ-साथ डायबिटीज होना इसकी संभावना और बढ़ा देता है)
  • लम्बे समय से अधिक मात्रा में शराब का सेवन करना (excessive chronic alcoholism)
  • हेपेटाइटिस B या C होना
  • लीवर में फैट जम जाना (fatty liver)
  • शरीर में आयरन की मात्रा बड़ जाना
  • सिस्टिक फाइब्रोसिस (cystic fibrosis) होना  
  • किसी प्रकार का auto-immune रोग या इन्फेक्शन होना जिससे लीवर पर असर पड़ रहा हो

शारीरिक जांच करते वक़्त ही डॉ. निवेदिता को पता चल गया था कि मिहिर के सिरोसिस की मुख्य वजह उसका वज़न है |

मिहीर को भी आखिरकार एहसास हुआ कि इतने सालों से अपने वज़न पर ध्यान न देकर उन्होंने कितनी बड़ी ग़लती करदी | पहले भी डॉक्टर्स ने उनके टेस्ट्स को देख कर यह कहाँ था कि उनके लीवर में परेशानी है परन्तु उन्होंने हमेशा इस बात को नज़रअंदाज़ करा |

Liver cirrhosis in hindi – कैसे करें इस बीमारी का इलाज ?

लीवर सिरोसिस का इलाज उसके कारण और गंभीरता पर काफ़ी निर्भर करता है |

“इस बीमारी में हमारा पूरा ध्यान इस पर होता है की कैसे हम लीवर को पहुँच रहे नुकसान को कम कर सकते हैं और कैसे सिरोसिस को बढ़ने से रोक सकते है | यह हम सिरोसिस उत्पन्न होने के कारण को ठीक करके करते है |”

लीवर सिरोसिस (cirrhosis meaning in hindi) को बढ़ने से रोकना

डॉ. निवेदिता ने मिहीर को कहाँ “सिरोसिस को बढ़ने से रोकने के लिए आपको सबसे पहले अपना वज़न घटाना पड़ेगा | उचित और स्वस्थ वज़न प्राप्त करने पर आपके सिरोसिस को मैनेज किया जा सकता है |”

सिरोसिस को बढ़ने से रोकने के लिए उसके होने के कारण को सुलझना पड़ता है | जीवनशैली में कुछ बदलाव करके जैसे शराब छोड़ कर लीवर को और हानि पहुँचने से रोका जा सकता है | अन्य कारण जैसे हेपेटाइटिस B या C को दवाइयों द्वारा मैनेज करके भी इस बीमारी को कण्ट्रोल में लाया का सकता है |

फैटी लीवर के कारण होने वाले सिरोसिस को जीवन में कुछ स्वस्थ बदलाव करके कम किया जा सकता है | “अक्सर वज़न घटाने से और खानपान में बदलाव करने से फैटी लीवर का इलाज किया जा सकता है |”

लीवर सिरोसिस (liver cirrhosis in hindi) के इलाज का दूसरा पहलू है इस बीमारी से उत्पन्न होने वाले जटिलताओं को जल्द से जल्द ठीक करना |

यह कॉम्प्लीकेशन्स है –

  • लीवर कैंसर – लीवर सिरोसिस होने से लीवर कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है | इसीलिए डॉक्टर अक्सर लीवर सिरोसिस से जूझ रहे मरीज़ों को बार-बार ब्लड टेस्ट्स और उल्ट्रासॉउन्ड्स कराने के सुझाव देते है ताकि कैंसर होने पर वह जल्दी नज़र में आजाए |
  • लीवर सिरोसिस का बढ़ना – जब पूरा लीवर करीब-करीब सिरोसिस से भर जाता है तब वह बिलकुल ही काम करना बंद कर देता है | इस परिस्तिथि में लीवर ट्रांसप्लांट ही एक उपाय होता है |

मिहीर को वज़न घटाने में सहायता करने के लिए डॉ. निवेदिता ने उन्हें सीताराम भरतिया के dietician के पास जाने को कहाँ जो उन्हें एक डाइट प्लॉन बनाने में मदद करेंगी |

“Liver cirrhosis me kya khana chahiye” मिहीर ने जाते वक़्त डॉ. निवेदिता से पुछा |

“बेहतर होगा की आप ऐसे में अपना पूरा ख्याल रखें और एक स्वस्थ आहार का सेवन करें | अपने खानपान में विटामिन्स, मिनरल्स और कैल्शियम का स्वस्थ तालमेल बिठाएँ |”

रोज़ व्यायाम करने से और एक सख्त डाइट प्लॉन का अनुगमन करने पर एक महीने के अंदर-अंदर ही मिहीर ने काफ़ी वज़न घटा लिया | वज़न घटाने पर उनके बीमारी के लक्षणों में भी काफ़ी सुधार आया |

Liked this post? Rate it now:

START TYPING AND PRESS ENTER TO SEARCH