piles-treatment-at-home-in-hindi

Piles Treatment At Home (in hindi) के 6 अहम टिप्स

जब कोयल सिन्हा अपनी चिकित्सा कराने हमारे डॉक्टर के पास आईं तो उन्होंने piles treatment at home (in hindi) से संबंधित कुछ सवाल पूछे|

“सही समय पर डॉक्टर से परामर्श करने से बवासीर का उचित इलाज किया जा सकता है| ध्यान रखें की बवासीर के घरेलु उपचार अपनाने से पहले आप डॉक्टर से जाँच करवा लें,” ऐसा कहते है डॉ. अमरचंद बजाज, सीताराम भरतिया के सीनियर सर्जन|

यदि आपको सर्जरी की ज़रूरत न हो तो आगे पढ़ें बवासीर के घरेलू उपचार (piles treatment at home in hindi) के कुछ सरल टिप्स –

1. Sitz Bath (गरम पानी के सेंक) से सूजन कम करें

गर्म पानी के टब में बैठने से या sitz bath की मदद से गुदा (पाख़ाना करने की जगह) के मांसपेशी को आराम देता है ताकि मल करने में आसानी हो| अपने डॉक्टर से सलाह लेकर sitz bath करें|

एक बेसिन में गुनगुना पानी डालें और कमर के बल बेसिन में 5-10 मिनट तक बैठें|

ध्यान रखें गर्भवती महिलाओं के लिए ज़्यादा गर्म पानी के टब में बैठना शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है| सिट्ज़ स्नान गुनगुने पानी से करें और ऐसे गर्भावस्था में सावधानियां ज़रूर बरतें|

2. रेचक औषधि (laxative) से आराम

डॉक्टर ने कोयल को रेचक औषधि (laxative) के इस्तेमाल से बवासीर के घरेलू उपचार (piles treatment at home in hindi) करने को कहा|

“कब्ज़ के इलाज के लिए डॉक्टर आपको laxative लेने की सलाह दे सकते हैं| इनके उपयोग से बवासीर के लक्षणों, जैसे गुदा में दर्द या खुजली, से आराम मिल सकता है|”

3. साबुत अनाज से बने आहार खाएं

डॉक्टर  ने कोयल को अपने रोज़-मर्रा की ज़िन्दगी में पौष्टिक फाइबर-युक्त आहार खाने को कहा|

“फाइबर-युक्त भोजन  के सेवन से मल नरम होता है जिसकी वजह से ज़्यादा दम लगाके पाख़ाना करने की ज़रुरत नहीं पड़ती|”

सिर्फ तेलयुक्त और मसालेदार खाने से परहेज़ करें| फल, सब्जियाँ, साबुत अनाज के बने आहार, दाल, जई, और नट्स जैसे खाद्य-पदार्थ का सेवन करें|

4. अधिक मात्रा में पानी पिए

सॉफ्ट ड्रिंक, कॉफ़ी, हरी और काली चाय जैसे कैफीन-युक्त पेय और शराब पीने से परहेज़ करें|
इनके बजाय, मल नरम करने के लिए दिन में कम से कम 3-4 लिटर पानी या अन्य द्रव पदार्थका सेवन करें|

5. कब्ज़ रोकने के लिए नियमित व्यायाम करें

अपने जीवन शैली में बदलाव लाना piles treatment at home (in hindi) का सबसे अहम टिप है| जीवन में आलस या सुस्ती आपके लिए हानिकारक बन सकता है|

“नियमित तरह से रोज़ व्यायाम करने से वज़न संयम में रहता है, कब्ज रोकने में मदद करता है, और ब्लड-प्रेशर नियंत्रण में रखता है|”

सॉफ्ट ड्रिंक, कॉफ़ी, हरी और काली चाय जैसे कैफीन-युक्त पेय और शराब पीने से परहेज़ करें|

इनके बजाय, मल नरम करने के लिए दिन में कम से कम 3-4 लिटर पानी या अन्य द्रव पदार्थ का सेवन करें|

6. मल करते समय ज़ोर न लगाएं

कोयल को समझ आया सही समय पर मल करने की अहमियत जब डॉक्टर ने समझाया की ज़्यादा देर इंतज़ार करने पर मल सूख जाता है और दबाव डालने की ज़रुरत पड़ती है|

“कोशिश करें की जब पाख़ाना जाने की उत्तेजना हो रही हो तो जल्द मल कर लें|”

चिकित्सा के बाद कोयल ने यह समझा की जब तक वह अपने जीवन में परिवर्तन नहीं लाएंगी तब तक यह बवासीर के घरेलू उपचार (piles treatment at home in hindi) असरदार नहीं होंगे|

इन कोशिशों के बावजूद, यदि आपके बवासीर के लक्षण – जैसे रक्तस्त्राव, या गुदा में खुजली और दर्द – कम न हो तो देरी न करें| जल्द यह फॉर्म भरें और डॉ अमरचंद बजाज से मुफ़्त में परामर्श कराएं|

Liked this post? Rate it now:

START TYPING AND PRESS ENTER TO SEARCH