piles-treatment-in-hindi

बवासीर का इलाज (piles treatment in hindi) – करें उचित समय में उपचार

5/5 (2)

कुछ दिनों से अंशुल साहू, 35, के गुदा (पाख़ाना की जगह) से रक्तस्त्राव हो रहा था और एक हफ़्ते बाद उन्हें वहाँ से कुछ मास निकला हुआ महसूस हुआ|

यहाँ जाँच करवाने पर पता चला यह बवासीर (piles) के लक्षण हैं और बवासीर का इलाज (piles treatment in hindi) करवाने अंशुल तुरंत हमारे सीनियर सर्जन, सीताराम भरतिया के डॉ. अमरचंद बजाज, के पास आएं|

कैसे होता है बवासीर (how does piles happen)?

“कब्ज (constipation) होने पर आपको मल (stools) करते वक़्त ज़ोर लगाना पड़ता है, जिसकी वजह से गुदा में दबाव पड़ता है| लम्बे समय तक कब्ज होने पर वहाँ बवासीर बन सकतें हैं,” ऐसा कहना है डॉ. बजाज का|

ध्यान रखें कि दर्द होना और रक्तस्त्राव जैसे लक्षण फिशर (fissure) के संकेत भी हो सकते हैं| सही समय पर डॉक्टर के सलाह से अपना इलाज करवाएं|

कब कराए बवासीर का इलाज (piles treatment in hindi)?

ट्रीटमेंट से पहले ठीक निदान करवाने की अहमियत बहुत है| डॉक्टर ने अंशुल को कुछ अन्य संकेत बताएं जिनके होने पर जाँच करवाना ज़रूरी हो जाता है –

piles-treatment

 

  • यदि गुदा से रक्तस्त्राव होना शुरू हो जाए|
  • लम्बे समय तक गुदा (पाख़ाना की जगह) में दर्द और असुविधा महसूस होना|
  • अगर आपके गुदा से मास निकला हुआ महसूस हो रहा हो|
  • यदि दवाओं, मरहम, और अन्य उपचारों से बवासीर का इलाज (piles treatment in hindi) नहीं हो पा रहा हो|

बवासीर के इलाज में ज़्यादा देरी न करें| ज़्यादा रक्त बहने से आपके शरीर में रक्त की कमी (anemia) हो सकती है जिसकी वजह से थकान महसूस होने लगता है और चक्कर आने लगते हैं|

“गंभीर स्थितियों में आपको हॉस्पिटल में भर्ती होकर रक्त चढ़ाने की ज़रुरत भी पड़ सकती है|”

कैसे होता है बवासीर का इलाज?

अंशुल ने डॉक्टर से पुछा अपने बवासीर के इलाज का उचित तरीका|

“समयपूर्वक इलाज (timely treatment) करवाने से सर्जरी की ज़रुरत नहीं पढ़ती|”

बिना सर्जरी के piles treatment (in hindi)

“यदि आपने जाँच सही समय से करवाया हो तो दवाओं, इंजेक्शन या banding से इलाज किया जा सकता है|”

डॉक्टर ने अंशुल को कुछ प्रकार के मरहम या क्रीम लगाने को भी कहा| इनके उपाय से अंशुल को कुछ समय तक आराम मिला|

यदि आपको कई दिनों से कष्ट हो रहा है तो बवासीर का इलाज जल्द कराएं! इसके लिए नीचे दिया गया फॉर्म भरें और डॉ अमरचंद बजाज के साथ मुफ़्त में परामर्श करें|

सर्जरी द्वारा piles treatment (in hindi)

सही समय पर डॉक्टर से जाँच करवाने से ही आपको बवासीर का उचित उपचार पता चलेगा| अगर बवासीर गंभीर स्थिति में हो तो कभी-कभी सर्जरी करवाने की ज़रुरत भी पड़ सकती है|

“ऑपरेशन से डरिए मत – सर्जरी की प्रक्रिया एक दिन की है (day-care surgery) और आप रोज़ का कार्य अगले दिन से ही आरंभ कर सकते हैं|”

अंशुल को सर्जरी की ज़रूरत नहीं पड़ी, लेकिन डॉक्टर ने उनको अपने जीवन शैली में बदलाव लाने की सलाह दी|

बवासीर के उपचार का सबसे पहला कदम है कब्ज से बचना| इसके लिए फाइबर-युक्त खाद्य-पदार्थ जैसे हरी सब्ज़ियाँ, साबुत अनाज, और फलों का ज़्यादा मात्रा में सेवन करना चाहिए|”

अपने चिकित्सा से खुश, अंशुल ने डॉक्टर के सलाह से अपने स्वास्थ्य में सुधार लाने का निर्णय लिया!

 

 

Liked this post? Rate it now:

START TYPING AND PRESS ENTER TO SEARCH